New Rule For Booking Ticket By IRCTC Know Here

IRCTC के मोबाइल एप के जरिये टिकट बुक करने के नियम में बदलाव किया गया है। आपको बता दें कि भारतीय रेल दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क है। पिछले कुछ सालों में रेलवे ने अपने टिकट बुकिंग की सुविधाओं में काफी बदलाव किया है, जिसका फायदा यात्री उठा रहे हैं। अगर आप किसी भी ट्रेन में टिकट बुक करना चाह रहे हैं, तो आप अब 120 दिन पहले टिकट बुक कर सकते हैं।

IRCTC ने ऑनलाइन टिकट बुक करने से लेकर रिफंड तक के बदले नियम, जानें ये 10 जरूरी बातें

हांलाकि, यह सुविधा कुछ चुनिंदा ट्रेन में टिकट बुक करने के लिए नहीं है। इसके अलावा अगर आपके IRCTC अकाउंट में आपका आधार कार्ड लिंक है तो आप एक महीने में अपने अकाउंट से 12 टिकट बुक कर सकते हैं। साथ ही रिफंड के नियम में भी बदलाव किया गया है। आइए जानते हैं रेलवे के इन नये नियम के बारे में

1. अगर आप टिकट बुक करना चाहते हैं तो आप अपनी यात्रा टिकट 120 दिन पहले ही बुक करा सकते हैं। अगर आपका अकाउंट आधार कार्ड से लिंक नहीं है तो आप महीने में 6 से ज्यादा टिकट नहीं बुक करा सकेंगे।

2. अगर आपका अकाउंट आधार कार्ड से लिंक से है तो आप अपने अकाउंट से एक महीने में 12 टिकट बुक कर सकते हैं।

3. ध्यान रहे कि नये नियम के मुताबिक आप एक अकाउंट से सुबह 8 से 10 बजे के बीच दो से ज्यादा टिकट बुक नहीं कर सकेंगे।

4. तत्काल टिकट आप यात्रा के एक दिन पहले ही बुक कर सकेंगे। अगर आप एसी में तत्काल टिकट बुक करना चाहते हैं तो आप सुबह 10 बजे से तत्काल टिकट बुक कर सकेंगे। अगर आप स्लीपर क्लास का टिकट बुक करना चाहते हैं तो सुबह 11 बजे से बुक कर करेंगे।

5. तत्काल टिकट बुक करने के लिए आप अपने अकाउंट से सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच केवल दो टिकट ही बुक कर सकेंगे। दोपहर 12 बजे के बाद से आप ज्यादा टिकट बुक कर सकेंगे।

6. एक बार लॉग-इन करने के बाद आप केवल एक ही तत्काल टिकट बुक कर सकेंगे। (वापसी टिकट को छोड़कर)

7. सिंगल पेज और क्विक बुकिंग सेवा सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच उपलब्ध नहीं होगी। एक यूजर एक बार ही लॉग-इन कर सकेगा।

8. एजेंट्स भी केवल सुबह 8 बजे से 8:30 बजे, 10 बजे से 10:30 बजे और 11 बजे से 11:30 बजे के बीच ही टिकट बुक कर सकेंगे। ट्रेवल एजेंट्स भी शुरुआती आधे घंटे में तत्काल टिकट नहीं बुक कर सकेंगे। इसका सीधा मतलब है कि अब यात्रियों को टिकट बुक करने में आसानी होगी।

9. ऑनलाइन टिकट बुक करते समय यात्रियों की जानकारी 25 सेकेंड के अंदर ही भरनी होगी नहीं तो टाइम-आउट हो जाएगा। साथ ही केप्चा भरने का समय भी 5 सेकेंड निर्धारित किया गया है।

10. ऑनलाइन पेमेंट करते समय यात्रियों को बुकिंग वेरिफाई करने के लिए ओटीपी की जानकारी डालनी होगी। इसके बाद ही आप टिकट बुक कर सकेंगे।

रिफंड का भी बदला नियम

रेलवे ने रिफंड के नियम में भी बदलाव किया है। बुक की हुई टिकट का रिफंड निम्न स्तिथि में किया जा सकेगा।

  • अगर ट्रेन शेट्यूल्ड डिपार्चर से तीन घंटे लेट चल रही हो
  • अगर ट्रेन का रूट डाइवर्ट कर दिया गया हो और यात्री उस रूट से यात्रा नहीं करना चाह रहे हैं तो टिकट का रिफंड क्लेम कर सकेंगे।
  • अगर यात्री को बुक किये गये टिकट से नीचे के क्लास में शिफ्ट कर दिया गया हो तो वो अपना रिफंड क्लेम कर सकेंगे। अगर यात्री उस क्लास में यात्रा करने के लिए सहमत हो जाते हैं तो दोनों क्लास के किराये का अंतर रिफंड कर दिया जाएगा।

ट्रांसफर भी कर सकेंगे यात्रा टिकट

अगर आपने अपने नाम से टिकट बुक किया है और आप किसी कारणवश उस दिन यात्रा नहीं कर सकते हैं तो आप अपना टिकट ट्रांसफर यानी स्थानांतरित भी कर सकेंगे। इसके लिए आपको चीफ रिजर्वेशन अधिकारी को यात्रा से 24 घंटे पहले सूचित करना होगा। आपको चीफ रिजर्वेशन अधिकारी को आपकी जगह यात्रा करने वाले यात्री की जानकारी उपलब्ध करानी होगी। ध्यान रहे आपकी जगह यात्रा करने वाला व्यक्ति आपके परिवार का ही सदस्य हो। (जैसे कि यात्री के पिता, माता, भाई, बहन, बेटा, बेटी, पति या पत्नी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *